Haryana Humsafar Carpool Yojana | हरियाणा हमसफ़र कार पूल योजना

Haryana Humsafar Carpool Yojana | हरियाणा हमसफ़र कार पूल योजना – यदि आप हरियाणा के निवासी है तो ख्याल रखते हुए जल्द ही राज्य सरकार के सहयोग से प्राइवेट कंपनी द्वारा हमसफ़र कार पूल योजना को शुरू की जाएगी। इतना ही नहीं इस योजना को शुरू करने का काम कम्पनी के अधिकारियो द्वारा आरम्भ कर दिया गया है। राज्य के प्रशासन द्वारा हमसफ़र कार पूल योजना को शुरू करने हेतु हरी झंडी दे दी गई है। 

Haryana Humsafar Carpool Yojana

हरियाणा हमसफ़र कार पूल योजना

इन योजना के अंतर्गत, अब आप अम्बाला से चंडीगढ़, अम्बाला से दिल्ली और अम्बाला से कुरुक्षेत्र और कैथल तक की यात्रा निम्न दर पर कर सकेगे। हम आपको यह भी बताना चाहते है कि हमसफ़र कार पूल योजना क़ानूनी रूप से वैध होगी। इस योजना के शुरू होने से आप सभी एक स्थान से दुसरे स्थान तक का सफ़र कम समय में पूरा कर सकेगे।


दिल्ली सरकार की चार नई योजनाएं – मुफ्त वाईफाई योजना,राशन होम डिलिवरी

अब सरल होगी यात्रा हमसफर कार पूल योजना के साथ

इस योजना के शुरू होने से, अब आप अम्बाला – कुरुक्षेत्र तक सफ़र 50 रुपए, अम्बाला से दिल्ली तक 250 रुपए, अम्बाला से चंडीगढ़ 60 रुपए तथा अम्बाला से कैथल तक का सफ़र केवल 70 रुपए के भुगतान पर ही किया जा सकेगा। इतना ही नहीं कंपनी द्वारा यात्री किराए में से 20 रुपए रेडक्रास को भी प्रदान की जाएगी।


मुख्य बिंदु

  • हमसफ़र कार पूल योजना जल्द ही पुरे भारत में शुरू कर दी जाएगी।
  • इतना ही नहीं इस योजना को बहुत जल्द हरियाणा के अम्बाला के साथ ही पंचकुला भी शुरू किया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ पिपली के 3000 से ज्यादा पुरुष तथा 200 से ज्यादा महिला यात्री यात्रा के दौरान उठा चुके है।
  • राज्य के बेहतर पर्यावरण, सडको पर कम जाम होने के नागरिको के पैसो की बचत को ध्यान में रखते हुए इस योजना को शुरू किया गया है।
  • जल्द ही हरियाणा के बलदेव नगर में क्योसक लगाया जाएगा।
  • इस क्योसक में सभी कर्मचारियों को कंपनी के खर्च पर रखा जाएगा।
  • इस योजना के कोई भी कार चालक आवेदन कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>